Shree Thakurjee returns to Vraj

🙏जय श्रीनाथजी प्रभु🙏


ठाकुरजी श्रीनाथजी फिर व्रज पधारेंगे और क्रीड़ा ब्रह्म शिखर पर होगी; जो सुरभि कुंड से पूँछरी तक फैला है।

यह गिरिराज गोवर्धन का दक्षिण भाग है।

उत्तर भाग राधा/श्याम कुंड है।


श्रीनाथजी प्रागट्य वार्ता में प्रसंग:


फोटो गिरिराज जी के दक्षिण पूँछरी भाग की है।



1 view0 comments

Recent Posts

See All